Wednesday, September 8, 2010

एक कदम तो बढाया था

एक कदम तो बढाया था आपकी तरफ 
लेकिन कदमो की आहत में दम न था,
दिल की बात न समझ पाए वो ,
शायद दिल किसी कशमकश में था,
वो कहते हैं की एक कदम तो बढाओ,
हम दुनिया छोड़ आएंगे,
लेकिन उन्हें क्या पता कितनी,
मुहब्बत हैं हमें आपसे,
हम आपके एक इशारे में अपनी,
साँसे उनके नाम कर जायेंगे.


Pawan Mall


Email Subscription | SMS Subscription 
Get free Email & SMS alert

No comments:

Post a Comment

Translate