Saturday, November 28, 2009

मैंने रोटी मांगी हे पप्पी नही !!



आप के लिए 1 फिल्म में
छोटासा रोल हैं
हेरोइन आपको गुफा में ले जाएगी
और
गोली मार देगी
फिल्म का नाम होगा ......
.
.
.
"गुफा में कुत्ते की मौत"



पति पत्नी में लड़ाई हो गयी,
पति घर से भाग गया.
पति रात को फ़ोन पे: खाने में क्या हे?
पत्नी : ज़हर
पति : मैं देर से आऊंगा तुम खा के सो जाओ.....


भिकारी : रोटी मिलेगी ?
आदमी : बीवी घर पे नही है !!
भिकारी : मैंने रोटी मांगी हे पप्पी नही !!!


ट्रेन में 1 मच्छर चाईनीस पर बैठा.
वो पकड़ के खा गया.
फिर 1 मच्छर सिन्धी पे बैठा.
उसने पकड़ के चाईनीस से पूछा :"खरीदोगे क्या?"






चिंटू : पापा बहुत शरीफ हे न ममा
मोम : कैसे बेटा चिंटू लड़की को देखते ही 1 आंख बंद कर लेते हैं.

Friday, November 27, 2009

एक लड़की थी दीवानी सी


एक लड़की थी दीवानी सी

मोबाइल लेकर चलती थी

नजरें झुका के

शर्मा के








मोबाइल में जाने क्या देखा करती थी

कुछ करना था शायद उसको

पर जाने किस से डरती थी

जब भी मिलती थी मुझसे

येही पूछा करती थी




यह
ऑन कैसे होता है?
यह
ऑन कैसे होता है?




और मैं सिर्फ येही कहता था
ये मोबाइल नहीं टीवी का रिमोट है



Thursday, November 26, 2009

आज हम परदे में हैं और वो बेनकाब आई




एक लड़की रोजाना बुर्के में कॉलेज जाती थी....
एक लड़का उस लड़की को बेहद प्यार करता था..
लड़का रोजाना उस लड़की को रस्ते में जाते हवे छेडा करता था....
लड़का लड़की से कहता ......एक पर्दा नाशी ...पर्दा हटा और अपने हुस्न का जलवा
दिखा ..
लड़की उसकी बात को सुनती और चुपचाप चली जाती ...
एक दिन लड़के ने रस्ते में लड़की का हाथ पकड़कर कहा ...
जान ,जानेमान , जानेजिगर , जाने तमन्ना ..
अगर तुमने कल मेरी मोहब्बत को काबुल नहीं किया तो मैं अपनी जान दे दूंगा .
लड़की मुस्कुराकर चली गयी ..
लड़की 3 - 4 दिन तक कालेज नहीं गयी
बाद में लड़की को पता चला की लड़के ने सच में खुदखुशी कर ली है ..
लड़की रोटी हुयी लड़के की कब्र पर गयी और अपना नकाब खोल कर बोली ..
अ मेरे गुमनाम आशिक देख तेरी महबूबा आई है जी भर के उसका दीदार कर ले ..
तभी कब्र में से आवाज़ आती है ..
हें खुदा ये तेरी कैसी खुदाई है ,आज हम परदे में हैं और वो बेनकाब आई

Friday, November 20, 2009

" मेरी ले जा...!"


लाइफ में हमेशा हँसते रहो,
मुस्कराते रहो, गाते रहो,
गुनगुनाते रहो...
ताकि तुम्हे देख कर ही
लोग समझ जाये की तुम... "अनमेरीड"  हो.



शादी से पहले एक आदमी  - सुपरमैन होता हैं. 
शादी के बाद  - जेंटलमैन होता हैं.
5 साल बाद  - वाचमैन होता हैं. 
10 साल बाद  - अपने ही जाल में फसा हुआ स्पाइडरमैन होता हैं.


अपनी बीवी को अपनी 100% कमाई देने से 10% सुख मिलता है.
किसी दूसरी को अपनी कमाई का 10% देने पे 100% सुख मिलता है
     ... पैसा आपका ... फैसला आपका ...


पत्नी :1 बात बोलू पर मुझे मारना नहीं.
पति : बोलो
पत्नी : मैं  पेट से हूँ.
पति : ये तो अच्छी खभर हैं, तुम इतना डर क्यों रही हो 
पत्नी : शादी के पहले पापा को बताया था, बड़ी मार पड़ी थी.


पत्नी : अगर मैं खो गयी तो तुम क्या करोगे?
पति : मैं टीवी और अख़बार में विज्ञापन दूंगा की जहा कहीं भी
हो.....
खुश रहो


पत्नी : शादी की रात तुम ने जब मेरा घूँघट उठाया तो कैसी लगती थी..
पति : मैं तो मर ही जाता अगर मुझे हनुमान चालीसा न याद होती..!!


पत्नी : मैं तुम्हारी याद में 2O दिन में ही आधी हो गयी हूँ,
मुझे लेने कब आ रहे हो?
पति : 2O दिन और रुक जाओ.


एक आदमी ने अख़बार में शादी के लिए विज्ञापन दिया :-
"पत्नी चाहिए"
उससे 1000 लोगो ने संपर्क किया :-
 " मेरी ले जा...!"
 " मेरी ले जा...!"


पति होटल के मेनेजर से : "जल्दी चलो! मेरी बीवी खिड़की से कूद कर जान देना चाहती है"
मनेजर : "इसमें मैं क्या कर सकता हु ?"
पति : "कमीने, खिड़की नहीं खुल रही है."


वो कहते हैं की हमारी बीवी स्वर्ग की अप्सरा है,
हम ने कहा खुशनसीब हो भाई,
हमारी तो अभी जिन्दा है...

भेजने वाले : नरेंदर सिंह (दिल्ली)
(ईमेल के जरिये)

Thursday, November 19, 2009

में रोज पढाई क्यों नहीं करता?



अक्सर सुनने में आता हे फला लड़का या लड़की फेल हो गया पर इसमे उनका क्या दोष है ?? भला 365 दिनों में भी कोई पढाई होती हे ? विश्वाश नही होता तो खुद हिसाब लगा लीजिये की पढ़ने के लिए समय कहाँ है ?

* साल में कुल =365 दिन
* साल में कुल =52 रविवार है आराम करने के लिए इसलिए पढाई नही
* अब बचे 313 दिन
गर्मी की छुट्टी लगभग 60 दिन भीषण गर्मी में पढाई करना बेहद मुशिकिल होता हे
* शेष बचे 253 दिन
* लगभग 6 घंटे रोज नीद मतलब साल भर में लगभग 120 दिन की नीद
* बचे 133 दिन
1 घंटा रोज खेलना खेलना स्वास्थ्य के लिए लाभदायक अथार्त वर्षः में लगभग 10 दिन
* अब बचे कुल 123 दिन
2 घंटे रोज दैनिक कार्य के अर्थात वर्षः में 27 दिन
* अथ्ह कुल दिन बचे 96
1 घंटा रोज दोस्तों से बातचीत करना क्योकि मनुष्य एक सामाजिक प्राणी है . अर्थात 10 दिन
अब बचे 86 दिन
वर्ष भर में इंतिहान आदि के 40 दिन
* अब बचे 46 दिन
वर्ष में तीज त्यौहार के 30 दिन
* अब बचे केवल 13 दिन
वर्ष भर में शादी ब्याह के 10 दिन
* अब बचे 6 दिन
साल भर में बीमारी सर्दी बुखार आदि के 5 दिन
* अब बचे सिर्फ 1 दिन
और उस दिन तो मेरा बर्थडे होता हे ..



Tuesday, November 17, 2009

दुनिया बदल गयी है चैटिंग से

दुनिया बदल गयी है चैटिंग से
होती है अब हैकिंग
चैटिंग से
निकलना हो गया सबका बंद
चैटिंग से
क्योंकि होती हैं अब तो सेटिंग
चैटिंग से

पहले करते हम दोस्त बातें कैफे में
पीते थे कॉफ़ी वाघेरा कैफे में


दुनिया हो गयी है बेकार चैटिंग से
होती हैं ख़राब आखें
चैटिंग से

खूब होती थी मस्ती कैफे में
खेलते थे मज़ाक किया करते थे
अब तो होती है बात तो वो भी
चैटिंग से

बेकार हो गया है टेलीफ़ोन चैटिंग से
हो जाती है अब वोइस चैट
चैटिंग से

पता नहीं था क्या मतलब होता है ASL का
पता चल गए सारे मतलब
चैटिंग से
हो रहे हैं बदनाम लोग
चैटिंग से

करता नहीं कोई अँगरेज़ बातें
हमसे
चैटिंग से 

कहते हैं की आती है इंग्लिश चैटिंग से
आशिक कहता है हो गयी है इंग्लिश
ख़राब
चैटिंग से होती थी
बड़ी धूम धाम से शादी निकाह हो रहा हैं
अब
चैटिंग से 

अब तो ऐसा लगता है की जनाब
मोहब्बत हो गयी है 
चैटिंग से !

Saturday, November 14, 2009

हर लडकी का है Boy Friend, हर लडके ने Girl Friend पायी है


जिन्दगी ये किस मोड पे ले आयी है ,
हर लडकी का है Boy Friend, हर लडके ने Girl Friend पायी है ,
चंद दिनो के है ये रिश्ते , फिर वही रुसवायी है .



घर जाना Home Sickness कहलाता है ,
पर Girl Friend से मिलने को टाईम रोज मिल जाता है .
दो दिन से नही पुछा मां की तबीयत का हाल ,
Girl Friend से पल - पल की खबर पायी है,
जिन्दगी ये किस मोड पे ले आयी है …..



कभी खुली हवा मे घुमते थे ,
अब AC की आदत लगायी है .
धुप हमसे सहन नही होती ,
हर कोई देता यही दुहाई है .



मेहनत के काम हम करते नही ,
इसीलिये Gym जाने की नौबत आयी है .
McDonalds, PizaaHut जाने लगे,
दाल- रोटी तो मुश्कील से खायी है .
जिन्दगी ये किस मोड पे ले आयी है …..



Work Relation हमने बडाये ,
पर दोस्तो की संख्या घटायी है .
Professional ने की है तरक्की ,
Social ने मुंह की खायी है.










जिन्दगी ये किस मोड पे ले आयी है
जिन्दगी ये किस मोड पे ले आयी है ,
हर लडकी का है Boy Friend,
हर लडके ने Girl Friend पायी है ,

Friday, November 13, 2009

मेकप चेक करती हैं





लड़के ए.टी.एम मशीन से पैसे कैसे निकालते हैं?

1. कार पार्क करते हैं
2. ए.टी.एम मशीन तक जाते हैं 
3. कार्ड डालते हैं 
4. अपना खुफिया कोड डालते हैं 
5. पैसे निकलते हैं 
6. ए.टी.एम कार्ड बाहर निकलते हैं 
7. और वहां से अपनी कार में चलते जाते हैं.









लड़किया ए.टी.एम मशीन से पैसे कैसे निकालती हैं?
1. कार पार्क करती हैं  
2. अपना मेकप चेक करती हैं  
3. कार का इंजन बंद करती हैं  
4. मेकप चेक करती हैं  
5. ए.टी.एम तक जाती हैं  
6. बुरी तरह से अपने पर्स में ए.टी.एम कार्ड तलाशती हैं  
7. ए.टी.एम मशीन के अन्दर कार्ड डालती हैं  
8. कैंसल वाला बटन दबाती हैं 
9. पर्स में चिट या पर्चा तलाशती हैं जिसमे खुफिया कोड लिखा हैं 
10. ए.टी.एम मशीन में कार्ड डालती हैं 
11. खुफिया कोड डालती हैं 
12. रोकड़ या कैश लेती हैं 
13. कार तक जाती हैं 
14. मेकप चेक करती हैं 
15. कार चालू करती हैं 
16. कार रोकती हैं  
17. भागकर ए.टी.एम तक जाती हैं  
18. ए.टी.एम कार्ड लेती हैं  
19. कार तक दुबारा वापस जाती हैं 
20. मेकप चेक करती हैं  
21. कार चालू करती हैं  
22. मेकप चेक करती हैं 
23. आधा किलोमीटर ही कार चलती हैं फिर  
24. हैण्ड ब्रेक को छोड़ती हैं  
25. मेकप चेक करती हैं..................................

Saturday, November 7, 2009

जरा बताओ हमें.........दहेज़ चाहिए


अरे किसी के दिल का टुकडा वह भी दहेज़ समेत चाहिए.
जरा बताओ हमें जवानों क्या तुम्हे दहेज़ चाहिए.

क्या विवाह की आवश्कता केवल लड़की की होती हैं.
अगर नहीं तो लड़को को धन की चाहत क्यों होती हैं.
लड़को को भी तो जीवन में जीवन साथी एक चाहिए
जरा बताओ हमें..............................................

कितना त्याग करती हैं नारी, क्या तुमने कभी सोचा हैं.
तुम क्या जानो अपने घर को तज देने का दुखः क्या होता हैं.
इस दुःख के अहसास के लिए बेटा बिदा रिवाज चाहिए.
जरा बताओ हमें..............................................

अरे किसी की बेटी लाकर तुम एहसान नहीं करते हो.
कचरा नहीं किसी के घर का जो तुम अपने घर में भरते हो.
उल्टा कन्यादान का मानना तुम्हे एहसान चाहिए.
जरा बताओ हमें..............................................

अर्धांगिनी जिसे तुम कहते हो, जिसके बिना तुम स्वयं अधूरे.
जिसके तुम सपने बुनते हो, जिसके बिना सब ख्वाब अधूरे.
उसी संगिनी को लाने को दौलत की क्या टेक चाहिए.
जरा बताओ हमें..............................................

अरे जवानों क्यों अपने यौवन को शर्मिंदा करते हो.
मर्द हो अपने पौरुष से तुम हर सुख हासिल कर सकते हो.
आज सभी ये करो प्रतिज्ञा पत्नी बिना दहेज़ चाहिए.
जरा बताओ हमें..............................................


Friday, November 6, 2009

गब्बर की गणित



गब्बर: कितने आदमी थे?
संभा: सरकार दो..
गब्बर: मुझे गिनती नहीं आती है....दो कितने होते हैं?
संभा: सरकार दो ,एक के बाद आता है..
गब्बर: और दो से पहले ?
संभा: दो के पहले एक आता है..
गब्बर: (गुस्से से) तोह बीच में कौन आता है??
संभा: बीच में कोई नहीं आता है..
गब्बर: तोह फिर दोनों एक साथ क्यों नहीं आते..?
संभा: दो एक के बाद ही आता है , क्योकि दो एक से बड़ा है...
गब्बर: दो एक से बड़ा है ,कितना बड़ा है..?
संभा: दो एक से एक बड़ा है..
गब्बर: दो एक से एक बड़ा है तोह ,एक एक से कितना बड़ा है?
संभा: सरकार मैंने आप का नमक खाया है, मुझे गोली मार दो 







ये एक गाना मेरे एक बेनाम दोस्त ने दीया हैं और वो भी अपनी GF लक्ष्मी के लिए :-

कभी कभी मेरे दिल में ख्याल आता हैं की
तू भूतनी जैसी लगती हैं, या सच में ही भूतनी हैं
लेकिन ये ख्याल मुझे रात में भी आता हैं
और ख्याल आते ही मुझे डर लग जाता हैं की जैसे
तुझे रब ने बनाया हैं सब को डराने के लिए

Translate