Friday, August 21, 2009

जागो लड़को जागो

अगर रक्षा बंधन पे लड़की लड़के को लड़की छेड़ने के चक्कर में भाई बनती हैं,
तो करवाचौथ पे छेड़ने से पति क्यों नहीं बनाती?

आखिर क्यों?

जागो लड़को जागो...



क्या तम्हारे पास ये सब हैं?
सुलगता जिस्म
नशीली आँखें
कपकपाते होंठ
थरथराता बदन
कपकपाती आवाज़


अगर हैं तो ....
तो तम्हें स्वाइन फ्लू हैं.









माँ ने कहा हवेली छोड़ दो,
पारो ने कहा दारू छोड़ दो,
1 दिन आएगा जब गर्लफ्रेंड कहेगी :
भैय्या इन बच्चों को जरा स्कूल छोड़ दो..




अध्यापक : 1+1=3 कैसे हो सकता है?
पप्पू : दोनों की शादी करा दो.
अध्यापक : एक और एक ग्यारह कैसे हो सकते हैं?
पप्पू : दोनों का निकाह पढ़वा दो.

No comments:

Post a Comment

Translate