Wednesday, August 19, 2009

यादो को तेरी हम प्यार करते हैं

मुकुद्दर में लिखी कोई बात हो तुम,
तकुदीर की एक शौगात हो तुम ,
करके बात तुमसे महसूस हुआ हमें
जिसे सदियों से मेरे साथ हो तुम


यादो को तेरी हम प्यार करते हैं
जान भी तुम पैर निसार करते हैं
फुर्सत मिले तो कुछ लिख भेजना
सिर्फ एक आप के ही समस का
हम इंतजार करते हैं


दोस्त का प्यार दुआ से कम नहीं होता,
वह चाहे दूर भी हो तो गम नहीं होता,
प्यार में अक्सर दोस्ती कम हो जाती है
पैर दोस्ती में प्यार कभी कम नहीं होता.

भेजने वाला : प्रवीण रोहिल्ला

2 comments:

  1. yado kohi to hampyar karate hai bahut hi sundar dang se prastut kari hai aapane...........rachana behad komal hai.........

    ReplyDelete

Translate