Friday, January 30, 2009

मक्खी रात को "ओडोमोस" लगाकर सोती है

लड़का सड़क पर लड़की से टकरा गया.
लड़की गुस्से में बोली बोली दीखता नही क्या सड़क तुम्हारी है
लड़का नही सड़क तो तुम्हारी है पर मुझे दहेज़ में मिली है.

भेजने वाला : समीर



मच्छर और मक्खी की हो गई शादी
पहले ही रात से हो गई मच्छर की बर्बादी
मच्छर कहता मेरी तो किस्मत खोटी है क्योंकि
मक्खी रात को "ओडोमोस" लगाकर सोती है

भेजने वाली : सारिका




तुझे देखे बिना तेरी तस्वीर बना सकता हूँ,
तुझसे मिले बिना तेरा हाल बता सकता हूँ,
हैं, मेरी दोस्ती में इतना दम की, अपनी,
आखों के आसूं तेरी आखों से गिरा सकता हूँ.

भेजने वाला : सुरेन्दर

No comments:

Post a Comment

Translate