Friday, December 14, 2007

मेरी आँखों में ने चमक दे दी तुमने

मेरी आँखों में ने चमक दे दी तुमने
थोडी नही बहुत सी खुशी दे दी तुमने
अंजुरी भर हसी दे दी तुमने
कुछ मीठे सपने भी सौपे है तुमने
और मैं क्या चाहूंगी इसके सिवा
की जब तक है सितारे जवान
दिल मैं उतर आओ एक गीत बनके
जब चलो तुम मंजिल की तरफ़
मंजिल खुद जाए सामने चल के
सूरज जब छोड ये धरती सदा के लिए
चाँद भी हो जब रुखसत सदा के लिए
तब तक तुम रहो धरती पर
मेरे आकाश बनके


user posted image

No comments:

Post a Comment

Translate